गणेश चतुर्थी(Ganesha Chaturthi)

गणेश चतुर्थी(Ganesha Chaturthi)

कथा- एक बार विपदाग्रस्त देवता भगवान शंकर के
पास गये। उस समय भगवान शिव के सम्मुख स्वामी कार्तिकेय
तथा गणेश भी विराजमान थे। शिवजी ने दोनों बालकों से पूछा
तुममें से कौन ऐसा वीर है जो देवताओं का कष्ट निवारण
है?तब कार्तिकेय ने अपने को देवताओं का सेनापति प्रमाणित
करते हुए देव रक्षा योग्य, तथा सर्वोच्च देव पद मिलने का
अधिकारी सिद्ध किया। यह बात शिवजी ने गणेश की इच्छा
जानना चाहा। तब गणेश जी ने विनम्र भाव से कहा कि पिताजी
आपकी आज्ञा हो तो मैं बिना सेनापति बने ही सब संकट दूर
कर सकता हूं। बड़ा देवता बनावें या न बनायें इसकी मुझे
लिप्सा नहीं।
यह सुन हँसते हुये शिव ने दोनों लड़को को पृथ्वी की
परिक्रमा करने को कहा तथा यह शर्त रखी कि जो सबसे पहले
पूरी पृथ्वी की परिक्रमा करके आ जायेगा वही वीर तथा
सर्वश्रेष्ठ देवता घोषित किया जायेगा। यह सुनते ही कार्तिकेय
बड़े गर्व से अपने वाहन मोर पर चढ़कर पृथ्वी की परिक्रमा
करने चल दिये। गणेश जी ने समझा चूहे के बल पर पूरी पृथ्वी
सोची।
का चक्कर लगाना अत्यन्त कठिन है इसलिए उन्होंने एक युक्ति
वे ७ बार अपने माता पिता की परिक्रमा करके बैठ गये।
रास्ते में कार्तिकेय को पूरे पृथ्वी मंडल में उनके आगे चूहे का
पद दिखाई दिया।
। परिक्रमा करके लौटने पर निर्णय की बारी आई। कार्तिकेय
जी गणेश पर कीचड़ उछालने लगे तथा अपने को पूरे।
मण्डल का एक मात्र पर्यटक बताया। इस पर गणेश ने शिका
से कहा कि माता-पिता में ही समस्त तीर्थ निहित हैं इसलि
मैंने आपकी ७ बार परिक्रमा की है।
गणेश की इस बात को सुनकर समस्त देवगणों ने
कार्तिकेय ने सिर झुका लिया। तब शंकर जी ने उन्मुक्त कंठ से
गणेश की प्रशंसा की तथा आशीर्वाद दिया कि त्रिलोक में
सर्वप्रथम तुम्हारी पूजा होगी। तब गणेश जी ने पिता की
आज्ञानुसार जाकर देवताओं का संकट दूर किया।
यह शुभ समाचार भगवान शंकर ने यह बताया कि चौथ
के दिन चन्द्रमा तुम्हारे मस्तक का सेहरा (ताज) बनकर पूरे
विश्व को शीतलता प्रदान करेगा। जो स्त्री पुरुष इस तिथि पर ।
तुम्हारा पूजन तथा चन्द्र अर्घ्य दान देगा उसका त्रिविध ताप

(दैहिक, दैविक, भौतिक) दूर होगा और ऐश्वर्य, पुत्र, सौभाग्य
को प्राप्त करेगा। यह सुनकर देवगन हर्षातिरेक में प्रणाम कर
अन्तध्यन हो गये। गणेश प्रर्थाना
‘‘गजाननं भूतगणादि सेवितं;
कपित्थ जम्बू फल चारु भक्षणम् ।।
उमा सुतं शोक विनाश कारकम्

नमामि विघ्नेश्वर पाद पंकजम् ।।

ShayriKiDairy

Cute Love Shayari For Girlfriend-Boyfriend, Best Love Sms Quotes,Attitube Status. Pyar Bhari Shayari about Love Forever, Love Sms in Hindi for Her & Him. Sad shayri Quotes.

No comments:

Post a Comment